वर्ल्ड फोटोग्राफी दिवस के अवसर पर कार्यशाला सम्पन्न 

भोपाल




सागर । शासकीय पॉलीटेक्निक महाविद्यालय सागर में वर्ल्ड फोटोग्राफी दिवस के उपलक्ष्य में कार्यशाला का आयोजन किया गया। कार्यशाला का संचालन महाविद्यालय के वरिष्ठ व्याख्याता एवं फैशन टेक्नोलोजी के विभागाध्यक्ष एस. पी. बिजौरिया द्वारा किया गया। उन्होने बताया कि फोटोग्राफरों को एक तस्वीर अपने विचार को प्रसारित करने के लिए प्रेरणा प्रदान करता है फिर भी विभिन्न लोगों को प्रेरित करने के लिए फोटोग्राफर अलग-अलग सोचते हैं। अविश्वसनीय परि.श्य से रोजमर्रा की जिंदगी में इस दिन एक वैश्विक गैलरी की छवियों को विभिन्न कौशल, स्तर, ज्ञान और विभिन्न देशों और संस्.ति में रहने वाले लोगों द्वारा कैद किया जा रहा है। 
कार्यशाला में उपस्थित मुख्य वक्ता एवं फोटोग्राफी विशेषज्ञ उमेश मेहता द्वारा फोटोग्राफी के उददेश्यों को बताते हुए कहा कि इसका उद्देश्य विचारों को साझा करना है। सभी को इस क्षेत्र की ओर अपना छोटा सा योगदान करने के लिए प्रोत्साहित करना और उन लोगों के काम का प्रसार करने के लिए लोगों का ध्यान आकर्षित करना है। फोटोग्राफी के जीवन में कलात्मक रंग, जीवन की विधा फोटोग्राफी का इतिहास, फोटोग्राफीकी कलाएं कैमरे की विधाएं, साहित्य का महत्व बताते हुए फोटोग्राफी के महत्व को विस्तृत तरीके से समझाया, जिससे जीवन में छात्रों के लिए फोटोग्राफी के क्षेत्र में अनेक अवसर मिल सकें। उन्होनें कहा कि तस्वीरें सिर्फ खुद की ली जाएं ऐसा जरूरी नहीं है। कोई भी चीज जो आपको अच्छी लगे, जो आपके मन पर गहरी और अलग छाप छोड़ जाए, या ऐसा कुछ भी जिसे दुनिया तक पहुंचने की जरूरत हो उसकी तस्वीर लेनी चाहिए। 
आज फोटोग्राफी हमारे जीवन का एक अनिवार्य हिस्सा बन गई है और यह एक ऐसे उपकरण के रूप में विकसित हुआ है जो हम सभी को जोड़ता है। कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप कौन हैं, आप कहां हैं। यह हमें फोटोग्राफी की संभावना को तलाशने के लिए हमारी आँखें खोलने में मदद करता है और हमें दुनिया को साझा करने में सक्षम बनाता है जैसा हम इसे देखते है।श्री मेहता नें विभिन्न देशों में फोटोग्राफी से होने वाले अनुभवों को भी समस्त स्टाफ और छात्र-छात्राओं के बीच अपने अनुभवों को साझा किया तथा कार्यक्रम के दौरान अपनी स्वरचित कविताओं से वाचन करते हुए राष्ट्र हित की बात कही । उन्होंने प्रचलित स्थानों की वर्तमान तथा पूर्व फोटोग्राफी कों भी प्रदर्शित किया तथा फोटोग्राफी में पूर्व एवं वर्तमान फोटोग्राफी में अंतर को समझाया तथा फोटोग्राफी करते समय प्रकाश को कैसा रखा जाये, इस पर विस्तृत व्याख्या की। फोटोग्राफी के संबंध में छात्र-छात्राओं द्वारा किये गये प्रश्नों का समाधान बड़ी बारीकी से किया  तथा व्याख्या के अंत में कामयावी की कविता का पाठ कर देशभक्ति के प्रति  प्रोत्साहित किया।  
महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. वाय. पी. सिंह द्वारा बताया कि विश्व फोटोग्राफी दिवस का महत्व फोटोग्राफी के क्षेत्र में लोगों के बीच जागरूकता पैदा करना, विचारों को एक-दूसरे के बीच साझा करना तथा सबको प्रोत्साहित करना है । उन्होनें संस्था में संचालित फैशन टेक्नोलोजी के छात्र-छात्राओं को फोटोग्राफी के क्षेत्र में आगे बढने के लिए प्रोत्साहित किया गया ।  
संस्था के संजीव दुबे, विभागाध्यक्ष नें महाविद्यालय में पधारे समस्त अतिथियों का आभार व्यक्त किया गया। इस अवसर पर महाविद्यालय के समस्त छात्र-छात्राएं एवं अधिकारी/कर्मचारी उपस्थित रहे।         




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *