अर्जुन अवॉर्ड के लिए बीसीसीआई की ओर से जसप्रीत बुमराह पहले दावेदार, धवन हो सकते हैं दूसरा नाम





नई दिल्ली 
भारत के तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह का नाम इस साल प्रतिष्ठित अर्जुन पुरस्कार के लिए भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) की ओर से भेजे जाने की उम्मीद है। बुमराह पिछले साल वरिष्ठता के आधार पर रविंद्र जडेजा से पिछड़ गए थे। बीसीसीआई के अधिकारियों के इस महीने के अंत में पुरुष और महिला वर्गों के लिए नामांकन किए जाने की उम्मीद है लेकिन गुजरात का यह तेज गेंदबाज पिछले चार वर्षों में अपने शानदार प्रदर्शन के बूते सबसे काबिल उम्मीदवार है। अगर बीसीसीआई पुरुष वर्ग में कई नाम भेजता है तो सीनियर सलामी बल्लेबाज शिखर धवन को भी तरजीह दी जा सकती है क्योंकि वह 2018 में इससे चूक गए थे जबकि बोर्ड ने उनका नामांकन भेजा था। बीसीसीआई के एक सूत्र ने पीटीआई से कहा, ‘पिछले साल, हमने पुरुष वर्ग में तीन नाम – बुमराह, रविंद्र जडेजा और मोहम्मद शमी – भेजे थे।’ 

बुमराह ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में केवल दो वर्ष ही पूरे किए थे जबकि चयन मानदंड के अनुसार खिलाड़ी ने शीर्ष स्तर पर कम से कम तीन वर्ष तक प्रदर्शन किया हो इसलिए वह इसे हासिल नहीं कर पाए। 26 साल के इस पेसर ने 14 टेस्ट में 68 विकेट, 64 वनडे में 104 और 50 टी20 अंतरराष्ट्रीय मैचों में 59 विकेट हासिल किए हैं। सूत्र ने कहा, ‘बुमराह निश्चित रूप से बेहतरीन उम्मीदवार हैं। वह आईसीसी के नंबर एक रैंकिंग के गेंदबाज थे। वह एकमात्र एशियाई गेंदबाज हैं जिसने साउथ अफ्रीका, इंग्लैंड, ऑस्ट्रेलिया और वेस्टइंडीज में 5-5 विकेट झटके हैं।’ ऐसी संभावना कम ही है कि बीसीसीआई इस बार मोहम्मद शमी का नाम भेजेगा क्योंकि उनकी पत्नी ने कथित घरेलू हिंसा में उनके खिलाफ पुलिस मामला दर्ज कराया हुआ है, जिसका मतलब है कि वह योग्य नहीं होंगे। जहां तक धवन की बात है तो सीनियर होना एक कारण है क्योंकि उनके सभी समकक्ष (विराट कोहली, रविचंद्रन अश्विन, रोहित शर्मा, अजिंक्य रहाणे, चेतेश्वर पुजारा और जडेजा) को यह पुरस्कार मिल चुका है। 

शिखर धवन हालांकि चोट के कारण पिछले साल काफी समय तक क्रिकेट से दूर रहे थे लेकिन बीसीसीआई के पूर्व अधिकारी ने कहा कि धवन के सीनियर होने की बात की अनदेखी नहीं की जा सकती। उन्होंने कहा, ‘2018 में हमने धवन का नाम भेजा था लेकिन केवल स्मृति (मंधाना) को पुरस्कार मिला। इसलिए बोर्ड बुमराह और धवन दोनों के नाम भेज सकता है।’ महिलाओं के वर्ग में ऑलराउंडर दीप्ति शर्मा को पिछले चार वर्षों से लगातार अच्छे प्रदर्शन के कारण तेज गेंदबाज शिखा पांडे के साथ नामांकित किया जा सकता है।
 



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *