बच्चो की मौत पर पॉलटिक्स नहीं होनी चाहिए-मुख्यमंत्री





जयपुर । मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने जोधपुर में कई कार्यक्रमों में भाग लेने के बाद पत्रकारों के एक एक सवाल का जवाब बेबाकी से दिया। उन्होने कहा कि देश में तीन तरह के पॉलटिशियन पॉलीटिक्स कर रहे है एक सत्ता चला रहे है वो, दूसरे प्रतिपक्ष में बैठै है वो, और तीसरे वो है जिन्हें मानवीयता और संवैधानिकता के दायरे को छोड़ अपने आप को ही क्योशन मार्क के घेरे में खड़ा कर रहे है यही वो राज है जिसका पता वक्त आने पर चलता है।
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने उक्त बाते कोटा जेकेलोन अस्पताल में पिछले दिनों हुई बच्चों की पर पत्रकारों द्वारा पूछे गए सवाल के जवाब में कहीं उन्होने कहा कि बच्चों की मौत का दुख किसे नहीं होता मुझे भी है पर इस पर राजनीति नहीं होनी चाहिए। दुख तब होता है जब अपने ही अपना अधिकार क्षेत्र नहीं समझते हुए सरकार पर क्योशन मार्क लगाते है…..उनका साफ कहना था कि प्रदेश अध्यक्ष सचिन पायलट हम सबके संगठन अध्यक्ष है और सरकार में डिप्टी सीएम उन्हें खुलकर कहना चाहिए था सरकार में उक्त कमी है इसे सुधारना चाहिए ना की मीडिया को गुमराह करने वाली जानकारी देना। उन्होने साफ आरोप लगाया कि मीडिया गुमराह हो रही है और इस गुमराह का राज वक्त आने पर पता चलेगा परदे के पीछे कौन राजनीति कर रहा है। गहलोत ने कहा कि पिछले छह साल से मृत्यु दर लगातार कम हो रही है और हर प्रदेश में बच्चों की मौत के आंकडे घट रहे है जबकि पूर्व में यही आंकड़े 65 प्रतिशत हुआ करते थे जिन्हें जो घटकर अब 38 प्रतिशत पर आ गए उन्होने कहा कि एप्रीशियट किया जाना चाहिए गहलोत ने कहा कि राजस्थान सरकार तो बच्चों की मौत पर ही नहीं बुजुर्गो, जवानों सभी के लिए उत्तम स्वास्थ्य देने के लिए चिंतित है इसके लिए सरकार ने निरोगी राजस्थान चलाने का संकल्प लिया है और इसके लिए काम शुरू भी हो गया है उन्होने कहा कि राजस्थान हेल्थ सर्विस में नंबर वन बने इसके लिए निरोगी राजस्थान की लॉचिंग की गई थी जिसमें अपोलो के देवीसेठी खुद आयें थे हम चिंतित है कि राजस्थान की जनता को रोगमुक्त कैसे बना सके। उन्होने कोटा की घटना पर चिंता जाहिर करते हुए प्रदेश अध्यक्ष और सरकार में डिप्टी सीएम सचिन पायलट के दौरे के बाद जो चर्चाएं खबरें मीडिया में सुर्खियां बन रही है मुझे लगता है कि मीडिया को गुमराह किया जा रहा है और इसके पीछे क्या राज है यह वक्त आने पर पता चलेगा।
जेएनयू घटना पर बोले गहलोत :- जेएनयू की घटना पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बेबाकी से कहा कि छात्रों पर नकाबपोशो के हमले की जितनी निंदा की जाएं उतनी कम है उन्होने कहा कि पूरे देश में चिंता की स्थिति बनी हुई है प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की नैतिकता बनती है कि ऐसी घटनाओं को अंजाम देने वालों को तुरंत पनिशमेंट सरकार की ओर से मिलना चाहिए पर दिल्ली की गद्दी पर बैठे मोदी और उनके गृहमंत्री की सरकार चलाने की नीति में लोकतांत्रिक संवैधानिक प्रक्रियाओं की खामियां है जिसके कारण पूरे देश में अफरा तफरी मची हुई है।




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *