ठंडी हवाओं ने दिल्ली-एनसीआर की हवा को बनाया विषैला, एक्यूआई 350 के पार

नई दिल्ली । दिल्ली-एनसीआर में चल रही बढ़ती ठंड ने असर दिखाना शुरू कर दिया है जिसके चलते सर्द हवाओं के साथ वायु प्रदूषण का स्तर भी मुसीबत लेकर आया है। दिल्ली में मंगलवार को वायु प्रदूषण खतरनाक स्तर पर पहुंच गया। दिल्ली-एनसीआर का औसतन एयर क्वालिटी इंडेक्स (एक्यूआई) 361 है, जो सबसे खराब है। आनंद विहार में एक्यूआई 393, बवाना में 364, अलीपुर में 345, आईटीओ में 376, ओखला में 386 और वजीरपुर में 377 रिकॉर्ड किया गया।

हवा का स्तर खराब
दिल्ली में ठंड लगातार बढ़ती जा रही है और इसी के साथ वायु प्रदूषण का स्तर भी लोगों की समस्याएं बढ़ाता जा रहा है। दिल्ली में न्यूनतम तापमान 6-7 डिग्री के आसपास बना हुआ है। हवा में नमी भी अच्छी खासी है जिसका औसत 100-80 फीसदी के आसपास दर्ज किया जा रहा है। दूसरी ओर हवा की क्वालिटी बदतर और खराब के बीच दर्ज की जा रही है। वायु प्रदूषण की यह दशा हवा की धीमी गति के कारण है। हवा तेज चलती है तो प्रदूषण के कण इधर उधर फैल जाते हैं लेकिन हवा तेज न होने और नमी बने रहने से वायु गुणवत्ता खराब बनी हुई है।
मौसम विभाग का कहना है कि आसमान तो साफ रहेगा लेकिन सर्दी और बढ़ेगी। पूरे उत्तर भारत में ठंड बढ़ेगी और कोहरा भी छाया रहेगा। सोमवार को वायु गुणवत्ता में कुछ सुधार का अनुमान था क्योंकि हवा कुछ तेज थी लेकिन बाद में फिर इसमें गिरावट दर्ज की गई। 23 दिसंबर के बाद हवा की गति धीमी रहने की संभावना है जिससे हवा की क्वालिटी बदतर हो सकती है। 24 दिसंबर को दिल्ली के कुछ इलाके जहांगीरपुरी, विनोबापुरी, साहिबाबाद और जीटी रोड में हवा की क्वालिटी काफी बदतर हो सकती है। हालांकि 24-25 तारीख के बाद इसमें सुधार की संभावना जताई जा रही है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *