Zee एंटरटेनमेंट की अपनी 16.5 फीसदी हिस्सेदारी बेचेगा एस्सेल ग्रुप

Uncategorized

नई दिल्ली

फंड जुटाने की कोशिश के तहत एस्सेल ग्रुप ने Zee एंटरटेनमेंट एंटरप्राइजेज लिमिटेड (ZEEL) में प्रमोटर की 16.5 फीसदी हिस्सेदारी बेचने का फैसला किया है. यह हिस्सेदारी कुछ वित्तीय निवेशकों को बेची जाएगी. इसके बाद इस कंपनी में प्रमोटर की हिस्सेदारी करीब 6 फीसदी के आसपास ही रह जाएगी.

इस खबर के आने के बाद गुरुवार को ZEEL के शेयर में जबरदस्त उछाल देखा गया. सुबह 10 बजे के आसपास इसके शेयर करीब 7 फीसदी की बढ़त के साथ 327 रुपये के आसपास कारोबार कर रहे थे.

कंपनी ने बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज को इस बिक्री की जानकारी दी है. एस्सेल ग्रुप एक प्रमुख मीडिया कंपनी है. कंपनी ने बीएसई को बताया है, ‘ग्रुप के कई कर्जदाताओं को लोन देनदारी चुकाने के लिए ग्रुप अपने प्रमोटर्स का हिस्सा बेच रही है. समूह ZEEL की 16.5 फीसदी हिस्सेदारी बेचेगा जिसमें से 2.3 फीसदी हिस्सेदारी ओएफआई ग्लोबल चाइना फंड या उसके सहयोगियों को बेचा जाएगा.

ओएफआई ग्लोबल की पहले से ही कंपनी में 8.7 फीसदी हिस्सेदारी है. अमेरिका के इस फंड ने अगस्त में कहा था कि वह 4,224 करोड़ रुपये में समूह की 11 फीसदी हिस्सेदारी खरीदेगा.

कितना है समूह पर कर्ज

गौरतलब है कि 30 सितंबर, 2019 तक ZEEL में प्रमोटर्स की हिस्सेदारी 22.37 फीसदी थी, जिसमें से 96 फीसदी कर्जदाताओं के पास गिरवी रखा हुआ था.प्रमोटर परिवार को 7,000 करोड़ रुपये का कर्ज चुकाना है. यह कर्ज कई घरेलू बैंकों, म्यूचुअल फंड और रूस के बैंक वीटीबी की है. इस हिस्सेदारी की बिक्री से जो रकम मिलेगी वह सीधे कर्जदाताओं के खाते में चली जाएगी. इसके अलावा कर्ज चुकाने के लिए यह परिवार अपने कुछ इन्फ्रास्ट्रक्चर और सोलर पावर एसेट को भी बेच रहा है.

समूह ने 205 मेगावॉट का सोलर पावर प्लांट 1,300 करोड़ रुपये में अडानी ग्रीन एनर्जी को बेचा है. इसके अलावा एस्सेल ग्रुप ने भारत की शिक्षा पर सबसे बड़ी लिस्टेड कंपनी जी लर्न में भी अपनी हिस्सेदारी बेचने की तैयारी कर रही है. यह किडजी नाम से प्री-स्कूल चेन चलाती है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *