मध्यप्रदेश / एक से डेढ़ दिन में टल जाएगा गांधीसागर बांध से खतरा, बाढ़ से 10 हजार करोड़ रुपए का नुकसान हुआ

मध्य-प्रदेश




इंदौर. गांधी सागर बांध को लेकर अपवाह फैलाई जा रही है। बांध पूरी तरह से सुरक्षित है। बांध से लगातार पानी छोड़ा जा रहा है। एक से डेढ़ दिन में बांध से खतरा टल जाएगा। यह बात मध्यप्रदेश के मुख्य सचिव सुधीर रंजन मोहंती ने सोमवार को राहत एवं बचाव कार्य पर प्रेस कॉन्फ्रेंस में कही। वे यहां संभागीय बैठक लेने पहुंचे थे।

प्रदेश में आई आपदा पर उन्होंने कहा कि ऐसे हालात तेज बारिश के कारण बने हैं। हमें तीन महीने पहले ही इस बात से संबंधित विभाग ने अवगत करवा दिया था, इसलिए हमने उसी समय से तैयारियां शुरूकर दी थीं। प्रदेशभर में 50 प्रतिशत ज्यादा बारिश हुई है। अगस्त में ही सभी डैम के गेट खोल दिए गए थे। गांधी सागर बांध को लेकर लगातार अफवाह फैलाई जा रही है। जब तक 2324 फीट पानी नहीं भरता, जब तक इससे किसी भी प्रकार का खतरा नहीं है। इसमें 10 फीट और पानी जब भरेगा, तब यह खतरे की ओर बढ़ेगा। ऐसा केवल भारी बारिश के कारण हो सकता है, लेकिन मौसम विभाग ने बताया है कि अगले 10 दिन में ज्यादा से ज्यादा 8 इंच और बारिश होगी। ऐसे में यह बांध पूरी तरह से सुरक्षित है।

सरकार एनडीआरएफ और राजस्थान सरकार के अफसरों के साथ प्रदेश में औसत से काफी ज्यादा बारिश के बाद आई बाढ़ से 75 हजार हेक्टेयर की फसल बर्बाद हो गई है। इससे करीब 8 हजार करोड़ का नुकसान हुआ है, वहीं सड़क सहित करीब दो हजार करोड़ की अन्य नुकसानी की अनुमान है। रेवेंयू डिपार्टमेंट ने सर्वे रिपोर्ट तैयार कर ली है, जिसे केंद्र को सौंपा जाएगा। उन्होंने बताया कि मंदसौर और नीमच के पांच तहसील प्रभावित हैं, जिसमें मंदसौर के 92 गांव और नीमच में 12 गांव शामिल हैं। बाढ़ से प्रभावित 21 हजार लोग रिलीफ कैंप में हैं। जिनमें से कुछ अपने घर को जा रहे हैं। सोमवार तक 15 हजार लोग राहत कैंम में रुके हुए हैं। पुलिस-प्रशासन के साथ ही कई एनजीओ भी मदद में लगे हुए हैं।

 




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *